Friday , August 17 2018
Breaking News
Loading...

शिवराज के इस निर्णय पर साधु-संतों ने भी खोला मोर्चा

मध्यप्रदेश के CM शिवराज सिंह द्वारा साधु बाबाओं को मंत्री पद देने के निर्णय की चारों ओर आलोचना हो रही है, विपक्ष तो इस मुद्दे पर चौहान को घेर ही रहा है किन्तु अब शिवराज के इस निर्णय पर साधु-संतों ने भी मोर्चाखोल दिया है साधु संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने  नर्मदा नदी में हो रहे प्रदूषण को लेकर प्रदेश के विभिन्न इलाकों से सैकड़ों साधू राजधानी भोपाल में इकट्ठा हुए हैं

Image result for शिवराज के इस निर्णय 

इन साधू संतों ने मांग रखी है कि गवर्नमेंट ने जिन संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिया है, उसके लिए वो माफी मांगें  नर्मदा को बचाने के लिए जो संकल्प लिया है गवर्नमेंट उसे पूरा करेंबाबाओं का कहना है कि गवर्नमेंट की कथनी  करनी में अंतर है, गवर्नमेंट ने नर्मदा को बचाने  उसे स्वच्छ करने का वादा किया था, लेकिन गवर्नमेंट के वे वादे निराधार साबित हुए हैं बाबाओं ने नर्मदा नदी की स्वच्छता को लेकर शिवराज गवर्नमेंट को जमकर लताड़ा

Loading...

वहीं प्रदेश की पुलिस साधू संतों का उग्र रूप देखकर उन्हें समझाने का संघर्ष कर रही है, लेकिन बाबा मानने का नाम नहीं ले रहे हैं आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि मध्य प्रदेश में बाबाओं को मंत्री का दर्जा दिए जाने के बाद प्रदेश के अन्य साधु संत शिवराज गवर्नमेंट से नाराज बताए जा रहे हैं उन्होंने कई बार गवर्नमेंट को आंदोलन की चेतावनी भी दी थीइससे पहले अपनी एक सूत्रीय मांग को लेकर साधु-संतों ने कलेक्टरों को ज्ञापन दिया था

Loading...