Tuesday , April 23 2019

गर्दन की चोट के कारण KKR के खिलाफ होने वाले मैच में नहीं खेलेंगे हरभजन सिंह

शानदार फॉर्म में चल रहे चेन्नई सुपरकिंग्स के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह गर्दन की चोट के कारण कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) के खिलाफ रविवार (14 अप्रैल) को होने वाले मैच में नहीं खेलेंगे. मौजूदा सत्र में 38 साल का यह गेंदबाज चार मैच में अब तक सात विकेट ले चुका है, जिसमें दो बार ‘मैन ऑफ द मैच’ पुरस्कार भी शामिल है.

गर्दन की चोट के अलावा हरभजन की पत्नी और बेटी की भी तबीयत खराब है. जिस वजह से वह टीम के साथ कोलकाता नहीं आए है. हरभजन ने कहा, ”मुझे जयपुर में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेलना था लेकिन उस दिन सुबह से ही मेरी गर्दन में तेज दर्द होने लगा और मुझे मुकाबले से बाहर होना पड़ा. ”

इसके साथ ही उन्होंने कहा, ”मेरी पत्नी और बेटी की तबीयत भी ठीक नहीं, मैं उनका ख्याल रखने के लिए मुंबई में हूं. जैसे ही वे ठीक होंगे मैं टीम के साथ जुड़ जाऊंगा. ” हरभजन सिंह से पहले ड्वेन ब्रावो भी चोट की वजह से 2 सप्ताह के लिए आईपीएल से बाहर चल रहे हैं.

KKR को दी थी 7 विकेट से मात

बता दें कि चेन्नई और कोलकाता के बीच गत नौ अप्रैल को चेन्नई में मुकाबला हुआ था जिसमें चेन्नई ने सात विकेट से जीत हासिल की थी. चेन्नई ने तेज गेंदबाज दीपक चाहर (20 रन पर तीन विकेट) की घातक गेंदबाजी और स्पिनरों के दमदार प्रदर्शन कोलकाता को सात विकेट से पराजित किया था.

चेन्नई ने कोलकाता को नौ विकेट पर 108 रन के मामूली स्कोर पर रोकने के बाद 17. 2 ओवर में तीन विकेट पर 111 रन बनाकर मैच जीत लिया था. चाहर ने अपने चार ओवर में 20 डॉट बाल डालीं थीं और आईपीएल इतिहास में एक पारी में सर्वाधिक डॉट बॉल फेंकने का नया रिकॉर्ड बना दिया था.

चाहर के अलावा चेन्नई के स्पिनरों का प्रदर्शन भी शानदार रहा था. ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने 15 रन पर दो विकेट, लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने 21 रन पर दो विकेट और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने 17 रन पर एक विकेट लिया था.

धौनी विवाद से आगे बढ़ चुकी है टीम

वहीं, चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाजी कोच माइक हसी ने मैच से पहले कहा कि कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी के अंपायर से बहस करने के विवाद को टीम पीछे छोड़ चुकी है. राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ गुरुवार को ‘कैप्टन कूल’ अंपायर उल्हास गंधे के फैसले को चुनौती देते हुए डगआउट से निकलकर मैदान पर आ गए. मैच के दौरान मैदानी अंपायर से बहस करने के बावजूद प्रतिबंध से बच गए लेकिन उन्हें मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना देना पड़ा.

हसी ने कोलकाता के खिलाफ रविवार को होने वाले से पहले कहा, ”यह घटना किसी हार की तरह है और आप जल्द से जल्द अगले मैच की तरफ बढ़ना चाहते है. ईमानदारी से कहूं तो हमने इसके बारे में चर्चा नहीं की. हम इससे आगे बढ़ चूके है. इसके बारे में ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं. ” हसी ने पूर्व भारतीय कप्तान की तारीफ करते हुए कहा कि वह ऐसे शानदार खिलाड़ी हैं जो किसी भी परिस्थिति में खेल सकते हैं.

उन्होंने कहा, ”अगर टीम मुश्किल में हो तो आप ने अक्सर देखा होगा कि वह धीरे-धीरे खेलते हुए पारी को आगे बढ़ाते है, साझेदारी बनाते हैं और फिर अंतिम ओवरों में बड़े शॉट लगाते है. ” ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व बल्लेबाज ने कहा, ”वह टीम में कई भूमिका निभा सकते है और वह बहुत शांत रहते है. वह जिस टीम के लिए भी खेले उसके लिए फायदे का सौदा है. ”