Tuesday , April 23 2019

बिना मुद्रक उतरवाए जाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 50 पोस्टर

बिना मुद्रक और प्रकाशक का नाम अंकित किए आगरा में लगाए गए लगभग 50 पोस्टर उतरवाए जाएंगे। इस संबंध में जिला स्तर पर मीडिया सर्टिफिकेशन और मॉनिटरिंग कमेटी (एमसीएमसी) ने पोस्टर लगाने वाली गाजियाबाद की कंपनी को नोटिस जारी किया है। आदेश न मानने पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया जा सकता है।

भाजपा को वोट देने की अपील के साथ ‘फिर एक बार मोदी सरकार’ के स्लोगन वाले शहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कई जगह पोस्टर लगाए गए हैं। इसमें प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर लगी है। शहर के विभिन्न स्थानों पर लगे इन पोस्टरों पर न तो मुद्रक और न ही प्रकाशक का नाम दर्ज है।

ऐसे में इसे आचार संहिता उल्लंघन मानते हुए पोस्टर लगाने वाली गाजियाबाद, मेरठ रोड, पंजाब एक्सपेलर कम्पाउंड स्थित मेसर्स रिटेल इम्पैक्ट को एमसीएमसी की ओर से नोटिस जारी किया गया है। कंपनी को सभी पोस्टर हटाने के लिए कहा गया है। इसके बाद यदि यह पोस्टर लगाए जाते हैं तो उन पर मुद्रक और प्रकाशक का नाम जरूरत अंकित होना चाहिए। ऐसा न होने पर कंपनी को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

‘मैं भी चौकीदार’ होर्डिंग-पोस्टर को क्लीन चिट

भाजपा की ओर से आगरा में ‘मैं भी चौकीदार’ के तमाम पोस्टर लगाए गए थे। इन पर भी प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर लगी हुई थी। सुदेश कुमार आर्य ने इस संबंध में ट्विटर पर आचार संहिता की शिकायत की। उन्होंने अपने ट्विटर पर पोस्टर की फोटो अपलोड करते हुए लिखा कि आगरा में चुनाव आयोग के आदेश की अवहेलना की जा रही है।

उन्होंने सवाल खड़ा किया कि यह चुनाव कैसे निष्पक्ष होगा। इस पर एमसीएमसी ने पड़ताल के बाद ट्विटर पर ही इस शिकायत का निस्तारण किया। जवाब में बताया गया कि ‘मैं भी चौकीदार’ के पोस्टर पर ऊपर की ओर मुद्रक और प्रकाशक का नाम अंकित है। इसलिए यह सही है।