Tuesday , March 26 2019
Breaking News

इस मीटिंग में दर्शन के लिए अनुमति दिए जाने पर भी चर्चा होगी

भारत-पाकिस्तान के ऑफिसर करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण कार्यों पर विचार-विमर्श करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय अटारी सीमा पर स्थित इंटिग्रेटेड चेक पोस्ट (आईसीपी) पर गुरुवार को मीटिंग करेंगे. सूत्रों के अनुसार मीटिंग में बिना पासपोर्ट करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए अनुमति दिए जाने पर भी चर्चा होगी. बताते चलें कि एसजीपीसी सहित कई सिख संगठनों ने यह मांग उठाई है.

तनाव के बीच अहम बैठक

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार हिंदुस्तान द्वारा एयर स्ट्राइक किए जाने के बाद दोनों राष्ट्रों में पैदा हुए तनाव के बीच यह मीटिंग बहुत ज्यादा अहम मानी जा रही है. हालांकि यह वार्ता केवल करतारपुर कॉरिडोर तक ही सीमित रहेगी. इंडियन शिष्टमंडल की अगुवाई विदेश मंत्रालय के पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान डेस्क के संयुक्त सचिव दीपक मित्तल  गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव अनिल मलिक करेंगे.

पाक ने दिया है ऐसा प्रस्ताव

जानकारी के लिए बता दें पाक गवर्नमेंट ने पिछले महीने हिंदुस्तान गवर्नमेंट के समक्ष एक प्रस्ताव रखा था. इसमें उन्होंने बोला था कि श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालु 15 यात्रियों के जत्थे में आएं  उनके पास पासपोर्ट होना चाहिए. उनके पास इंडियन सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जारी क्लीयरेंस सर्टिफिकेट होना जरूरी है. आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु का एक डेटाबेस तैयार किया जाए. इंडियन सुरक्षा एजेंसियां हर श्रद्धालु के बारे में जानकारी उसके आने के तीन दिन पहले पाक को उपलब्ध करवाए.