Tuesday , March 26 2019
Breaking News

अब बीएसपी सुप्रीमो अंबेडकरनगर या फिर बिजनौर से चुनावी संग्राम में भाग लेंगी

आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में हुए सपा-बसपा साझेदारी के दो बड़े चेहरे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव  बीएसपी सुप्रीमो मायावती, ये दोनों बड़े नेता कहां से चुनाव लड़ेंगे इस बात पर अभी भी असमंजस बना हुआ है समाचार है कि बीएसपी सुप्रीमो मायावती के नगीना सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ने की आसार समाप्त मानी जा रही है इसके बाद अब ये कायस लगाए जा रहे है कि अब बीएसपी सुप्रीमो अंबेडकरनगर या फिर बिजनौर से चुनावी संग्राम में भाग लेंगी 

चुनावी सरगर्मियां तेज होने के साथ ही ये अटकलें थीं कि बीएसपी अध्यक्ष नगीना सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ सकती हैं सूत्रों का कहना है कि लोकसभा चुनाव के लिए सपा-बसपा साझेदारी में बीएसपी को मिली सीटों के लिए प्रभारियों के नाम फाइनल हो गए हैं  नगीना से गिरीश चंद्र जाटव को चुनाव की तैयारी के लिए कह दिया गया है इन खबरों से ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि बीएसपी सुप्रीमो मायावती अब अंबेडकरनगर या फिर बिजनौर में से किसी सीट पर चुनाव लड़ सकती हैं वर्ष 1989 में मायावती ने बिजनौर से चुनाव लड़ा था यहां से सांसद बनकर संसद तक पहुंची थीं

वहीं, पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय की पत्नी  पूर्व सांसद सीमा उपाध्याय ने फतेहपुर सीकरी से चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है जानकारी के मुताबिक, पार्टी उनसे फतेहपुर सीकरी से चुनाव की तैयारी करने को बोला गया था, लेकिन वह अलीगढ़ से टिकट मांग रही थीं पार्टी ने पिछले दिनों अलीगढ़ से अजीत बालियान को प्रभारी बनाने का एलान कर दिया इसलिए ये कयास लगाए जा रहे हैं कि पार्टी अजीत बालियान को ही टिकट देगी आपोक बता दें कि बीएसपी प्रभारियों को ही प्रत्याशी घोषित करती आई है

आपको बता दें कि बीएसपी  सपा दोनों पार्टी के अध्यक्षों चुनाव कहां से लड़ेंगे इस पर असमंजस बना हुआ है अखिलेश ने बोला था कि वह कन्नौज से चुनाव लड़ेंगे लेकिन अब पत्नी डिंपल को मैदान में उतारकर अखिलेश ने असमंजस की स्थिति पैदा की है अब ये आसार है कि वह आपने पिता मुलायम सिंह यादव की सीट आजमगढ़ से चुनाव लड़ सकते हैंदरअसल, समाजवादी पार्टी ने अब तक 9 प्रत्याशियों का एलान किया है इसमें मैनपुरी से पिता मुलायम सिंह यादव  कन्नौज से पत्नी डिंपल यादव चुनाव लड़ेंगी