Tuesday , March 19 2019
Breaking News

एच-1बी वीजा में अमेरिकी नीतियों में परिवर्तन लाने की योजना क्यों कर रहे ट्रंप

शुक्रवार को को आश्वासन दिया कि उनका प्रशासन जल्द ऐसे परिवर्तन करेगा, जिससे उन्हें अमेरिका में रुकने का भरोसा मिलेगा  जिससे उनके लिए ‘‘नागरिकता लेने के लिए संभावित रास्ता बनेगा ’’ अधिकांश एच-1बी वीजा धारक आईटी पेशेवर हैंImage result for इस पर मंजूरी न देने पर डोनाल्ड ट्रंप ने आपातकाल की धमकी दी

ट्रंप ने शुक्रवार को ट्विटर हैंडल से लिखा है कि उनका प्रशासन एच-1बी वीजा में अमेरिकी नीतियों में परिवर्तन लाने की योजना बना रहा है  वह प्रतिभाशाली तथा उच्च कौशल लोगों को अमेरिका में कॅरियर बनाने के लिए बढ़ावा देगा

ट्रंप ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ‘‘अमेरिका में एच-1बी वीजा धारक आश्वस्त हो सकते हैं कि परिवर्तन जल्द होंगे जिससे आपको यहां रूकने में सरलता होगी  आपको भरोसा मिलेगासाथ ही इससे यहां की नागरिकता लेने का संभावित रास्ता खुलेगा हम प्रतिभाशाली  उच्च कौशल लोगों को अमेरिका में कॅरियर बनाने के लिए बढ़ावा देंगे ’’

ट्रंप का ट्वीट इंडियन पेशेवरों  खासकर आईटी एरिया के पेशेवरों के लिए अच्छी समाचार के रूप में सामने आया है, जिन्हें ग्रीन कार्ड अथवा स्थायी कानूनी निवास पाने में वर्तमान में करीब एक दशक तक का इंतजार करना पड़ता है

राष्ट्रपति शासनकाल के प्रथम दो सालों में ट्रम्प प्रशासन ने के वहां अधिक समय तक ठहरने, विस्तार  नया वीजा हासिल करना मुश्किल बना दिया था इंडियन आईटी पेशेवर एच-1बी वीजा की बहुत ज्यादा चाहत रखते हैं यह गैर आव्रजन वीजा है जिसमें अमेरिकी कंपनियां विशेषज्ञ विदेशी कामगारों को रोजगार पर रखती हैं