Friday , January 18 2019

छत्तीसगढ़ चुनाव: कर्जमाफी के वादे के साथ सत्ता में आई कांग्रेस

किसानों की कर्ज माफी  समर्थन मूल्य से लगभग 770 रुपये प्रति क्विंटल ज्यादा की दर से धान खरीदने के बड़े-बड़े वादों के साथ कांग्रेस पार्टी छत्तीसगढ़ की सत्ता में पहुुंच तो गई है, लेकिन अब नयी गवर्नमेंट को किसानों का कर्ज माफ करने के लिए लगभग 3264 करोड़ रुपये चाहिए होगा वहीं, धान खरीदने के लिए 5450 करोड़ रुपये की अलावाधनराशि की आवश्यकता होगी राज्य वित्त विभाग ने इन वादों को पूरा करने से बढ़ने वाले बजट वजन का विश्लेषण प्रारम्भ कर दिया हैRelated image

जीएसटी लागू होने से राज्य के पास कर लगाने का भी कोई अधिकार नहीं बचा है इसके बावजूद अर्थशास्त्री और वित्त विभाग में रहे पूर्व आइएएस अफसरों को लगता है कि गवर्नमेंटउक्त वादों को सरलता से पूरा कर देगी हालांकि, नयी कांग्रेस पार्टी गवर्नमेंट के लिए अच्छी समाचार यह है कि तीन महीने के बाद नया वित्तीय साल शुरुआत हो जाएगा

loading...

वहीं बताया जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी गवर्नमेंट केवल केसीसी यानी किसान क्रेडिट कार्ड वाले किसानों का ही लोन माफ करेगी अर्थशास्त्री प्रो जेएल भारद्वाज के अनुसार करीब 3264 करोड़ रुपये का ऋण किसानों पर है यह सभी कर्ज सहकारी बैंकों द्वारा दिए गए हैं गवर्नमेंट बनते ही कैबिनेट कर्ज माफी का कानून पास कर देगी साथ ही बैंकों को आदेश दे दिया जाएगा कि वे किसी कर्ज की वसूली न करें 31 मार्च तक गवर्नमेंट सभी बैकों को प्रमाण लेटर जारी कर देगी

Loading...
loading...