Monday , March 18 2019

कांग्रेस में चल रहा भीतरघात

कांग्रेस पार्टी की चुनाव अभियान समिति के लगातार दूसरी बार अध्यक्ष बनाए गए ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की गवर्नमेंट बनते ही पार्टी के महाननेताओं के निशाने पर दिखाई दे रहे हैं विधायक दल के नेता के चुनाव में जहां सिंधिया को किनारे कर दिया गया, उसी तरह अब प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने की आशंकाओं के बीच दूसरे नामों पर चर्चा प्रारम्भ हो गई है पार्टी के महान नेता मध्यप्रदेश की पॉलिटिक्स से सिंधिया को दूर रखने की रणनीति बना रहे हैं Image result for कांग्रेस में चल रहा भीतरघात

वहीं, प्रदेश कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष के लिए प्रारम्भ हुई रस्साकशी में अजय सिंह के नाम की सिफारिश की गई है, ताकि सिंधिया को रोका जा सके हालांकि गुप्त सूत्रों से समाचार आई है कि ये तो मात्र दिखावा है, वक्त आने पर दिग्विजय के हाथों में भी प्रदेश कांग्रेस पार्टी की कमान जा सकती है

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी में कई दशकों से पूर्व CM दिग्विजय सिंह  सिंधिया घराने के रिश्तों में तनाव है  दिवंगत माधवराव सिंधिया से लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया तक ये तनाव यदा-कदा दिखाई दे ही जाता है विधानसभा चुनाव 2018 के लिए जब प्रदेश कांग्रेस पार्टी में नेतृत्व बदलाव किया गया था, तब कमलनाथ के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम भी सामने आया था उस समय महान नेताओं ने अनुभव का हवाला देकर सिंधिया को दौड़ से अलग कर दिया  राज्य में गवर्नमेंट बनाने को प्राथमिकता देते हुए सिंधिया को उप-मुख्यमंत्री बनने के लिए राजी कर लिया आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि कांग्रेस पार्टी के साथ ये सिर्फ मध्यप्रदेश में ही नहीं हो रहा है, राजस्थान में भी सचिन  गहलोत में यही समस्या है  छत्तीसगढ़ में भी अब तक मुख्यमंत्री का नाम तय नहीं हो पाया है