Friday , March 22 2019
Breaking News

जोड़ों का दर्द दूर भगाए वृक्षासन

बढ़ती उम्र के साथ-साथ और रोजाना एक ही तरह के काम करने से अर्थराइटिस की परेशानी होने लगती है। घुटनों का दर्द या अर्थराइटिस जैसी समस्याओं का इलाज हर वो इंसान चाहता है जिसे इस बीमारी की वजह से चलने-फिरने में तकलीफ होती है। जिसके लिए लोग ना जानें कितने डॉक्टरों और दवाईयों के चक्कर में घूमते रहते हैं।

लेकिन इसका फायदा उन्हें कुछ नहीं होता है। होता है तो सिर्फ समय और पैसों की बर्बादी। इस परेशानी से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा और आसान तरीका है रोजाना नियमित तरीके से योगासन करना। ये योगासन आपके शरीर और सेहत को हर तरीके से फायदे देंगे। अगर बात योगासन की करें तो वृक्षासन एक ऐसा आसन है जिसका रोजाना अभ्यास करने से आप अर्थराइटिस एवं कई और बीमारियों से राहत पा सकते हैं। चलिए जानते है वृक्षासन करने का तरीका और इसके फायदे।

वृक्षासन करने का तरीका – वृक्षासन को करने के लिए सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाएं। अब दोनों पैरों के बीच कुछ दूरी बनाकर खड़े हो। फिर हाथों को सिर के ऊपर उठाते हुए सीधा कर हथेलियों को मिला दें। दाहिने पैर को मोड़ते हुए उसके तलवे को बाईं जांघ पर टिका दें। बाएं पैर पर संतुलन बनाते हुए हथेलियां, सिर और कंधे एक ही तरफ हो। जब तक संभव हो ऐसे रहें। कुछ देर बाद दूसरे पैर से भी ऐसा ही करें।

वृक्षासन ना सिर्फ शरीर की बीमारियों को ही ठीक करता बल्कि ये एक्स्ट्रा फैट को भी निकालता है। इस आसन के बाद शरीर को कमजोरी नहीं आती और हड्डियां मजबूत हो जाती है। अगर आप अपनी बढ़ती तोंद से परेशान हैं तो इस आसन को जरूर करें। नियमित वृक्षासन करने से हमारी एकाग्रता क्षमता बढ़ती है जिससे हमारी याद्दाश्त तेज होती है। इस आसन को करने से मन शांत रहता है।