Monday , December 17 2018
Loading...

दिल्लीः विधानसभा का विशेष सत्र हंगामेदार होने के आसार

दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र एक बार फिर हंगामेदार होने के आसार हैं। सोमवार को बुलाए गए सत्र में सत्ताधारी पक्ष ने केंद्र सरकार और दिल्ली भाजपा को कठघरे में खड़ा करने की रणनीति तैयार की है तो भाजपा आम लोगों की समस्याओं को लेकर सरकार पर निशाना साधेगीImage result for दिल्लीः विधानसभा का विशेष सत्र हंगामेदार होने के आसार

सत्र के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर मिर्ची पाउडर फेंकने और भाजपा पर चुनाव आयोग से मिलकर मतदाता सूची से नाम कटवाने के आरोप जैसे मुद्दे छाए रहेंगे। सत्ता पक्ष विजय देव को मुख्य सचिव बनाए जाने पर भी केंद्र सरकार को निशाने पर लेगा।

उधर, कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर मिर्ची हमले को लेकर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। पार्टी ने कहा कि सरकार के पास दिल्ली की समस्याओं के लिए वक्त नहीं है। ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा नहीं कराकर सरकार दिल्ली की जनता के साथ धोखा कर रही है।

Loading...

प्रदेशाध्यक्ष अजय माकन ने विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को लिखे पत्र में कहा है कि यह दिल्ली में जानलेवा प्रदूषण, गैरकानूनी सीलिंग, डेंगू और बिगड़ती कानून-व्यवस्था जैसे ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा करने का वक्त है, न कि मिर्ची कांड पर। अजय माकन ने व्यक्तिगत मुद्दों को लेकर सत्र की अनुमति नहीं देने की मांग उठाई।

उनका कहना है कि मैं खुद विधानसभा अध्यक्ष रहा हूं और हमेशा सदन की गरिमा बनाए रखी। कभी भी किसी व्यक्ति विशेष के लिए सत्र नहीं बुलाया। कांग्रेस के 15 वर्ष के कार्यकाल में केवल 3 बार विशेष सत्र बुलाया गया, जबकि आप सरकार साढ़े तीन वर्ष से अधिक के कार्यकाल में 15 विशेष सत्र बुला चुकी है। इससे सदन की गरिमा को ठेस पहुंचती है और जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा भी बर्बाद होता है।

जूता-स्याही फेंकने की संस्कृति को आप ने दिया प्रोत्साहन : विजेंद्र

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने विशेष सत्र बुलाने की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि जनता को भ्रमित करने की कोशिश की जा रही है। जनहित के मुद्दों पर सरकार सदन में चर्चा नहीं कराना चाहती। आप ने ही जूते और स्याही फेंकने की संस्कृति को प्रोत्साहित किया। जूता फेंकने वाले व्यक्ति को विधायक का टिकट देकर पुरस्कृत करने की संस्कृति को प्रोत्साहित किया है। अब जब उनके ऊपर मिर्च पाउडर फेंका जाता है तो वह उसे जानलेवा हमला बता रहे हैं।

कपिल मिश्रा ने दिया तीन मुद्दों पर चर्चा का प्रस्ताव

आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने सत्र में तीन मुद्दों पर चर्चा का प्रस्ताव दिया है। विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को दिए प्रस्ताव में मिश्रा ने कहा है कि इस सत्र में डीटीसी कर्मचारियों की मांगों पर चर्चा कर समान काम समान वेतन, सभी अस्थायी कर्मचारियों की नौकरी सुरक्षित करने का संकल्प पारित किया जाए। बढ़ते प्रदूषण पर सरकार के एक्शन प्लान पर श्वेत पत्र लाया जाना चाहिए। साथ ही दिल्ली में बांग्लादेशी और रोहिंग्या की कितनी तादाद है, इस पर सरकार से आंकड़े प्रस्तुत करने को कहेंगे।

Loading...