Monday , December 17 2018
Loading...

फार्मूला 1 चैंपियन लुईस हैमिल्टन ने बताया हिंदुस्तान को गरीब

पांच बार के एफ 1 चैंपियन लुईस हैमिल्टन ने हाल ही में एक साक्षात्कार के दौरान हिंदुस्तान को एक गरीब राष्ट्र बताया उनके इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर लुईस को जमकर ट्रोल किया गया सोशल मीडिया में ट्रोल होने के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर सफाई भी दी है हाल ही में ने रेड बुल के मैक्स वेरस्टापेन को पछाड़ते हुए ब्राजील ग्रांप्री रेस में जीत हासिल की बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, मैक्स ने इस रेस में लीड हासिल कर रखी थी लेकिन एस्टेबान ओकोन के साथ हुई मुक़ाबला के कारण वह पीछे रह गए ब्राजील ग्रांप्री रेस में मैक्स ने सभी को पछाड़ते हुए बढ़त बना रखी थी, लेकिन इसी बीच उनकी कार की मुक़ाबला फोर्स इंडिया के ड्राइवर ओकोन के साथ हो गई  इस कारण वह पिछड़ गए उन्होंने हैमिल्टन को पछाड़ने की प्रयास की लेकिन सफलता हासिल नहीं कर पाए  Image result for फार्मूला 1 चैंपियन लुईस हैमिल्टन ने बताया हिंदुस्तान को गरीब

हाल ही में एक साक्षात्कार के दौरान लुईस हैमिल्टन ने हिंदुस्तान को गरीब राष्ट्र बताते हुए बोला कि हिंदुस्तान जैसे राष्ट्रों में फार्मूला वन के आयोजन नहीं होने चाहिए उनका यह बयान इंडियन फैन्स के लिए बहुत ज्यादा निराशाजनक रहा

Loading...

लुईस हैमिल्टन ने बोला कि जब भी वह हिंदुस्तान में ग्रांड प्रीक्स के लिए आते हैं तो खुद को अनुपयुक्त पाते हैं आगे उन्होंने कहा, हिंदुस्तान एक गरीब राष्ट्र है  यहां एफ 1 ट्रैक अच्छे नहीं बनाए जा सकते हैमिल्टन यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा, एफ 1 के आयोजन के लिए केवल उन्हीं राष्ट्रों पर फोकस किया जाना चाहिए जहां रेसिंग कल्चर हो अपना मार्केट बढ़ाने के लिए नए-नए इस्तेमाल करना उचित नहीं है

हैमिल्टन के इस बयान के बाद इंडियन फैन्स ने सोशल मीडिया पर उनकी जमकर आलोचना की  उन्हें ट्रोल किया

सोशल मीडिया पर ट्रोल होने के बाद फॉर्मूला वन के चैंपियन ड्राइवर हैमिल्टन ने हिंदुस्तान को गरीब राष्ट्र कहे जाने पर सफाई पेश की की है उन्होंने अपनी सफाई में कुछ ऐसी बातें कही हैं जो इंडियन लोगों को सोचने के लिए मजबूर कर सकती हैं हैमिल्टन ने अपनी सफाई में हिंदुस्तान में फॉर्मूला वन ट्रैक पर करोड़ों रुपए खर्च करने के बजाय उस पैसे का उपयोग गरीबी दूर करने के लिए किए जाने की वकालत की है

हैमिल्टन ने सोशल मीडिया के ही जरिए इस पर अपनी सफाई पेश की है उनका कहना है, ‘मुझे लगता है कई लोग मेरे बयान से अपसेट हैं हिंदुस्तान संसार से सबसे खूबसूरत राष्ट्रों में से एक है तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होने के साथ इसमें बेहद गरीबी भी है जब मैं गरीबों के बीच से ड्राइव करते हुए फॉर्मूला वन के ऐसे ट्रैक पर पहुंचता हूं जहां पैसा कोई मायने नहीं रखता तो मुझे बड़ा अजीब लगता है हिंदुस्तान ने करोड़ों रुपए ऐसे ट्रैक पर खर्च कर दिए जिनका अब कोई उपयोग नहीं है इस पैसे से कई स्कूल  घर बनाए जा सकते थे ’

बता दें कि इस रेस में हैमिल्टन के बाद मैक्स दूसरे जगह पर रहे, वहीं फरारी के ड्राइवर किमी राएकोनेन को तीसरा जगह हासिल हुआ खिताब से एक कदम दूर रहने पर निराशा जताते हुए वेरस्टापेन ने कहा, “आप सब कुछ अच्छा करते हैं मैदान पर जाते हैं, आपके पास अच्छी कार है  फिर एक बेवकूफ की वजह से आप खिताबी दौड़ बाहर हो जाते हैं मेरे पास शब्द नहीं हैं ”

उन्होंने कहा, “आप रेस के बाद यह कह सकते हैं कि मेरे पास उनकी तुलना में हारने के लिए बहुत कुछ था लेकिन मैं केवल रेस में भाग ले रहा था फिर आकस्मित एक बेवकूफ आपकी रेस के बीच में आ जाता है  सब बेकार कर देता है इस बारे में मैं क्या कर सकता हूं?”

Loading...