Monday , December 17 2018
Loading...

भारत-मालदीव के संबंध होंगे मजबूत

मालदीव में शनिवार को होने जा रहा नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह माले के लिए बदलते हालातों का सबसे बड़ा उदाहरण बनने जा रहा है चाइना के कर्ज में डूबा यह राष्ट्रमदद के लिए हिंदुस्तान के साथ-साथ अमेरिका से भी आस लगाए बैठा है यही वजह है कि नए राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के पदभार ग्रहण के दौरान उपस्थित रहने वाले इंडियन पीएम मोदी मालदीव के लिए सर्वोच्च रैंकिंग वाले मेहमान होंगेImage result for भारत-मालदीव के संबंध होंगे मजबूत

चीन की बात करें तो वहां के सांस्कृतिक एवं पर्यटन मंत्री इसमें भाग लेने वाले हैं  वहीं, मोदी ने अपनी मालदीव यात्रा को लेकर गर्मजोशी दिखाते हुए ट्वीट करके मालदीव के साथ बुनियादी ढांचे, स्वास्थ्य, कनेक्टिविटी  मानव संसाधन के क्षेत्रों में योगदान के साथ कार्य करने की बात कही है 2014 में सत्ता संभालने के बाद पहली बार मालदीव की यात्रा पर जा रहे मोदी की नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में शामिल होना इस बात का इशारा है कि पिछले वर्षो में दोनों राष्ट्रों के बीच गड़बड़ हुए संबंध अब सुधरने वाले हैं

Loading...

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्षों के दौरान चाइना की तरफ मालदीव का झुकाव हिंदुस्तान के लिए चिंता का विषय रहा है श्रीलंका में चल रहे राजनीतिक गतिरोध को लेकर भी हिंदुस्तान चाइना में तनाव की स्थिति है चाइना समर्थक नेता अब्दुल्ला यामीन को हराने के बाद सोलिह ने चाइना को ठेंगा दिखाते हुए इंडिया फ‌र्स्ट पॉलिसी की वकालत की है उन्होंने बोला है कि 4 लाख से अधिक की आबादी वाले इस द्वीपीय राष्ट्र को अपने तात्कालिक  परंपरागत पड़ोसियों के साथ मजबूत संबंधों की जरुरत है

Loading...