Monday , December 17 2018
Loading...

सर्वाइकल पैन से ऐसे बचे

सर्वाइकल पैन आजकल हर दूसरे वयक्ति को हो रहा है इसका कारण बदलता लाइफस्टाइल है घंटों एक ही स्थान पर बैठकर कार्य करना  लगातार एक ही वस्तु पर नजर टिकाए रखने वाले लोगों में यह कठिनाई हो ही जाती है गर्दन के इस दर्द को ‘सर्वाइकल स्पांडिलाइटिस’ बोला जाता है यह दर्द गर्दन के पीछले हिस्से से प्रारम्भ होकर कंधों  बाजू तक जाता है इस समस्या के बढ़ने से दर्द रीढ़ की हड्डी तक भी पहुंचता है अगर फिर भी स्थिति की तरफ ध्यान न दिया जाए तो दर्द पैरों के अंगूठे तक पहुंच जाता है इसी के साथ बता देते हैं किन लोगों को होता है सर्वाइकल पैनRelated image

जिन लोगो की बैठने की पॉजीशन सही न हो वे इस दर्द बहुत जल्दी शिकार हो जाते हैं गर्दन झुकाकर कार्य करने से गर्दन के पीछले हिस्से में ऐंठन प्रारम्भ हो जाती है इसके लिए जरुरी बीच-बीच में आराम करें इतना ही नहीं सोते समय ऊंचा तकिया लेकर सोना भी सर्वाइकल का कारण बनता है

Loading...

* ऑस्टियोआर्थराइटिस : यह जोड़ों का दर्द है, इसमें हड्डियों को स्पोर्ट करने वाले ऊतक का टूटना प्रारम्भ हो जाते हैं जो सर्वाइकल दर्द का कारण है

* रीढ़ की हड्डी में चोट : रीढ़ की हड्डी में चोट लगने से भी सर्वाइकल दर्द होने लगती है

* ख़राब लाइफस्टाइल : जो लोग शारीरिक श्रम नहीं करते उन्हें सर्वाइकल जैसी समस्याएं होना आम है

इससे बचने के लिए :

* एक लीटर पानी में आधा चम्मच नमक डालकर उबाल लें बोतल में यह पानी डालकर इससे सिंकाई करें ध्यान रखें कि पानी काफी गर्म न हो

* खाली पेट पानी के साथ एक कली लहसुन का सेवन करें इसके अतिरिक्त खाने में लहसुन का प्रयोग करें इसके एंटीबैक्टीरियल गुण दर्द को कम करने में मदद करते हैं लहसुन के ऑयल से मसाज करने से भी लाभ मिलता है

Loading...