Monday , December 17 2018
Loading...

हिमा दास पर अब नाडा रखेगा निगरानी

इंडियन स्प्रिंटर हिमा दास ने बुधवार को इस कदम का स्वागत किया कि राष्ट्रीय डोपिंगरोधी एजेंसी (नाडा) उनकी कड़ी निगरानी कर रहा है उन्होंने बोला कि यह अच्छी एथलीट होने के इशारा हैं हिमा को यूनिसेफ की युवा दूत नियुक्त किया गया है रिपोर्टों के अनुसार हिमा को नाडा ने अपने ‘पंजीकृत परीक्षण सूची’ में शीर्ष वर्ग में रखा हैImage result for हिमा दास पर अब नाडा रखेगा निगरानी

इसके तहत इस 18 वर्षीय एथलीट का लगातार प्रतियोगिता के दौरान  प्रतियोगिता से इतर परीक्षण किया जा सकता है हिमा ने कहा, ‘‘जो भी नियम हैं हमें उनका अनुसरण करना होगा मुझे इससे कोई कठिनाई नहीं है अच्छे एथलीटों के साथ यह आम बात है यह अच्छे एथलीटों के फायदे के लिए ही है ’’

पदकों के लिए नहीं दौड़तीं हिमा
एशियाई खेलों में चार गुणा 400 मीटर महिला रिले में स्वर्ण  फिनलैंड में अंडर-20 विश्व चैंपियनशिप में ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीतने वाली हिमा को यूनिसेफ ने हिंदुस्तान की पहली युवा दूत नियुक्त किया है हिमा ने बोला कि उनका लक्ष्य अपने समय में लगातार सुधार करना है उन्होंने कहा, ‘‘मैं पदकों के लिए नहीं दौड़ती मैं अपना समय बेहतर करने के लिए दौड़ती हूं मैं अपने समय में सुधार करने पर ध्यान देती हूं ’’

अर्जुन अवार्ड से सम्मानित हैं हिमा
अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बीते दिनों अपनी छाप छोड़ने वाली हिमा को इसी वर्ष अजुर्न अवार्ड से सम्मानित किया गया है असम की हिमा दास एक वर्ष के भीतर एशियन गेम्स के अतिरिक्तकॉमनवेल्थ गेम्स  आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में सोने का तमगा जीत चुकी हैं उन्हें इसी प्रदर्शन के दम पर अर्जुन अवॉर्ड के लिए चुना गया

अगले सीजन पर ध्यान
फिल्हाल उनका ध्यान आने वाले सीजन पर है जहां वे दक्षिण एशियाई खेलों, एशियाई चैम्पियनशिप  विश्व चैम्पियनशिप में शिरकत करेंगी हिमा ने कहा, “यह सीजन समाप्त हो चुका हैअगले साल, दक्षिण एशियाई खेल, एशियाई चैम्पियनशिप, विश्व चैम्पियनशिप होनी है इसलिए मेरा इस पर ध्यान है कि मैं इन टूर्नामेंट्स के लिए किस तरह की तैयारी करूं  अपने आप को किस तरह से अलग-अलग टूर्नामेंट के लिए तैयार रखूं ”

Loading...

रिकॉर्ड सुधारने पर है नजर
अगले सीजन में अपने लक्ष्य के बारे में पूछे जाने पर हिमा ने कहा, “मेरे दिमाग में कुछ लक्ष्य हैं मैं एक-एक कर उन्हें हासिल करूंगी अब लोगों को मुझसे बहुत ज्यादा उम्मीदें हैं  मुझे उन्हें पूरा करना है ” उन्होंने कहा, “मैंने एशियाई खेलों में 50.79 सेंकेंड का समय निकाला था जो 50.78 से बहुत ज्यादा करीब है मुझे प्रतिस्पर्धा पसंद है चीजों में सुधार कर  रिकार्ड बनाकर अच्छा लगता है “

Loading...