Saturday , November 17 2018
Loading...

गोवा में दफनाया गया पादरी का मृत शरीर

पादरी से सामाजिक कार्यकर्ता बने एफआर बिसमारक्यू डायस को उनकी मौत के तीन वर्ष बाद आखिरकार रविवार को उनके पुरखों के कब्रिस्तान में दफना दिया गया. डायस का मृत शरीर 2015 में संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था. रविवार को आखिरकार उनके परिजन मृत शरीर को दफनाने पर सहमत हो गए  इसके बाद डायस को सेंट एस्तेवम गांव के कब्रिस्तान में दफना दिया गया. 52 वर्ष के डायस का मृत शरीर उत्तरी गोवा में पणजी से करीब 20 किलोमीटर दूर 5 नवंबर, 2015 की रात को मांडोवी नदी में मिला था. Image result for गोवा में दफनाया गया पादरी का मृत शरीर

उनके परिजनों ने मर्डर की आशंक जताई थी, लेकिन अपराध ब्रांच ने डूबने के कारण मौत होने की बात कही थी. हालांकि अपराध ब्रांच की बात का विरोध इसलिए हो रहा था, क्योंकि डायस बेहद अच्छे तैराक थे. उनकी मर्डर की संभावना इसलिए भी जताई गई थी, क्योंकि उन्होंने उत्तरी गोवा के तेरेखोल गांव में एक सेवन स्टार होटल के गोल्फ कोर्स प्रोजेक्ट का विरोध किया था  उसके विरूद्ध आंदोलन चला रहे थे.

परिजनों ने उनकी मौत की सही जांच करने की मांग करते हुए मृत शरीर लेने से मना कर दिया था. पादरी का मृत शरीर गोवा मेडिकल कॉलेज के शवगृह में संरक्षित किया गया था.मंगलवार को डायस के पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि परिजनों ने आखिरकार उन्हें दफनाने पर सहमति जता दी  इसके बाद 4 नवंबर को 100 से ज्यादा लोगों की मौजूदगी में मृत शरीर दफनाने की प्रक्रिया पूरी कर दी गई.

Loading...
Loading...